मैं तो श्याम की दीवानी मेरा और कौन होगा लिरिक्स

मैं तो श्याम की दीवानी,
मेरा और कौन होगा,
मेरे दिल की धड़कनो में,
बस श्याम श्याम गूंजे।।

मुरली बजा बजा के,
बेसुध मुझे बनाये,
कण कण में है समाये,
फिर भी नज़र न आये,
तेरे दर्शनों के प्यासे,
मन को उदार कर दो,
मेरे दिल की धड़कनो में,
बस श्याम श्याम गूंजे।।

ये जो हसरते है दिल में,
बस है तुम्हारी मोहन,
दुविधा यही है मेरी,
तुझे कैसे बताऊ भगवन,
तेरे दर्शनों के प्यासे,
मन को उदार कर दो,
मेरे दिल की धड़कनो में,
बस श्याम श्याम गूंजे।।

मैं तो श्याम की दीवानी,
मेरा और कौन होगा,
मेरे दिल की धड़कनो में,
बस श्याम श्याम गूंजे।।

Leave a Reply