मोहे थाम ले गुरुवर आजा भजन लिरिक्स

मोहे थाम े गुरुवर आजा,
मेरा बनके खिवैया आजा,
बड़ा गहरा है भवर,
कुछ आये ना नज़र,
मोहे थाम लें गुरुवर आजा

बेसहारा समझ,
ये जहाँ छल गया,
छोड़ मुझको बता,
तू कहाँ चल दिया,
मोहे लगता है डर,
थोड़ी कृपा तू कर,
जरा गिरते हुए को उठा जा,
बड़ा गहरा है भवर,
कुछ आये ना नज़र,
मोहे थाम लें गुरुवर आजा।।

आंसुओ पे मेरे,
ये जहाँ हँस रहा,
ये जमी हँस रही,
आसमा हँस रहा,
बैरी हुआ है जहा,
अब जाऊ मैं कहाँ,
इस मन को ये बतला जा,
बड़ा गहरा है भवर,
कुछ आये ना नज़र,
मोहे थाम लें गुरुवर आजा।।

मोहे थाम ले गुरुवर आजा,
मेरा बनके खिवैया आजा,
बड़ा गहरा है भवर,
कुछ आये ना नज़र,
मोहे थाम लें गुरुवर आजा।।

Leave a Reply