यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार सांवरे भजन लिरिक्स

यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार सांवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

कोई तेरे जैसा कहा दिलदार सांवरे,
किसी और ने किया ना ऐतबार सांवरे,
तेरा मुझपे बड़ा है उपकार सांवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे,
यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार सांवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

मेरी दिल की लगी को ना तोड़ना,
हाथ थामा है तो कभी भी ना छोड़ना,
मोहे संग संग ले चल उस पार सांवरे,
दिल कैसे ये लगेगा इस पार सांवरे,
जहाँ तू है वही मेरा घर बार सांवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार साँवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

जिसका कोई नही उसका सहारा तू,
बाबा डूबते को फिर से उबारा तू,
ओर पालन हारे मेरे सरकार सांवरे,
मेरी थामे रहना यूँ ही पतवार सांवरे,
‘लहरी’ नमन करू बार बार सांवरे
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार साँवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

कोई तेरे जैसा कहा दिलदार सांवरे,
किसी और ने किया ना ऐतबार सांवरे,
तेरा मुझपे बड़ा है उपकार सांवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे,
यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार सांवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार साँवरे,
मेरी बगिया में तू है तो बहार सांवरे।।

उमा लहरी भजन यूँ ही होता रहे तेरा ये दीदार सांवरे भजन लिरिक्स

This Post Has One Comment

Leave a Reply