यो जग झुठो है संसार भजन लिरिक्स

॥ दोहा ॥
कबीरा सोया क्या करे , उठ ने भज भगवान ।
जम जब घर ले जायेंगे , पड़ी रहेगी म्यान ॥

बन्दा थारी नींदड़ली ने निवार ,
ओ तो जग झूठो है संसार ।
उगे सो ही आथमे जी ,
फूले सो कुम्हलाय ।
चुणिया देवळ ढह पड़े जी ,
जनमे सो मर जाय ,
ओ तो जग झूठो है संसार ॥

सोने रा गढ़ कांगरा जी ,
रूपेरा घर बार ।
रति एक सोनो नहीं मिल्यो रे ,
रावण मरती वार ।
ओ तो जग झूठो है संसार ॥
बन्दा थारी नींदड़ली। ….

हाथां पर्वत तोलता जी ,
ज्यांरो भूमि ना खिंवती भार ।
वे माणस माटी मिल्या रे ,
ज्यांरा भांडा घड़े रे कुम्हार ।
ओ तो जग झूठो है संसार ।
बन्दा थारी नींदड़ली। ….

सेर – सेर सोनो पहरती जी ,
मोत्यां मरती भार ।
घड़ियक झोलो वाजियो हो गई ,
घर घर री पणियार।
ओ तो जगझूठो है संसार ।
बन्दा थारी नींदड़ली। ….

पाळी न चाली पांवड़ो जी ,
चाली कोस हजार ।
काशी नगर रे चोंवटे जी ,
अरे हरिचन्द बेची नार ।
ओ तो जग झूठो है संसार ॥
बन्दा थारी नींदड़ली। ….

जारां हँस हँस बोलता ,
दिन में सौ सौ बार ।
वे माणस किण दिश गया ,
सुरता करो विचार ।
ओ तो जग झूठो है संसार ॥
बन्दा थारी नींदड़ली। ….

दो अक्षर है प्रेम रा जी ,
राम नाम तत्सार ।
काजी मे मद सा यूं भणे जी ,
अरे केवल नाम आधार।
ओ तोजगझूठो है संसार ।।
बन्दा थारी नींदड़ली। ….

bhagwat suthar bhajan video

यो जग झुठो है संसार o to jag jutho re sansar bhajan, bhagwat suthar bhajan, चेतावनी भजन लिरिक्स, chetawani bhajan lyrics
भजन :- ओ तो जग झूठो है संसार
गायक :- भगवत सुथार

Leave a Reply