रमता पधारो म्हारे आंगणे बजरंग बाला भजन लिरिक्स

। दोहा ।।
चढ़े नाव में रामजी , सीता के साथ
केवट मन हरषाय रया, मगन मस्त हो गाय।

रमता पधारो म्हारे आंगणे ,
मारा बजरंग बाा।
लुल लुल जोडू दोनों हाथ।२।

माता अंजनी रा थे लाडला ,
मारा बजरंग बाला।
केसरी पिताजी रो नाम ,
माँ अंजनी रा लाला ।
रमता पधारो। ….

सेवा करी थे राजा राम री ,
मारा बजरंग बाला।
मन में बसाया सीता राम ,
माँ अंजनी रा लाला।
रमता पधारो। ….

छठ पूनम ने मंगल वार ,
ने मारा बजरंग बाला।
जनम लियो जग माय ,
वो अंजनी रा लाला।
रमता पधारो। ….

दास अोक की या विनती ,
मारा बजरंग बाला।
भव से लगावो मने पार ,
माँ अंजनी रा लाला।
रमता पधारो। ….

रमता पधारो म्हारे आंगणे ,
मारा बजरंग बाला।
लुल लुल जोडू दोनों हाथ।२।

रमता पधारो म्हारे आंगणे बजरंग बाला भजन लिरिक्स ramta padharo mhare aangan bajarang bala.bajarang bali bhajan

Leave a Reply