लंकापूरी ने मुझको जाना है, माता सिता का पता लगाना है भजन लिरिक्स Bhajan Lyrics

लंकापूरी ने मुझको जाना है, माता सिता का पता लगाना है भजन लिरिक्स | Lanka Puri Me Mujhko Jana Hai, Mata Sita Ka Pata Lagana Hai Bhajan Lyrics

वीरो में वीर है बजरंगी,
दुष्टों के काल राम के संगी,
भरी सभा भी खामोश थी तब,
बोले बलि,
लंकापूरी में मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है,
लंकापूरी ने मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है।।

राम की आज्ञा से हनुमाना,
उड़ गये पवन समाना,
सुरसा ने पकड़ा हनुमान को तब,
बोले बलि,
लंकापूरी ने मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है,
लंकापूरी में मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है।।

माँ के चरणों में शीश नवाये,
रघुवर के कपी सन्देश सुनाये,
आग लगाई जब पूछ में सारी,
लंका जली,
लंकापूरी ने मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है,
लंकापूरी में मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है।।

हनुमत ने सिय की कथा सुनाई,
आँखे श्री राम की भर आई,
सेवक करो ना प्रभु देर तो अब,
बोले बलि,
लंकापूरी में सबको जाना है,
माता सिता को वापस लाना है,
लंकापूरी में मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है।।

वीरो में वीर है बजरंगी,
दुष्टों के काल राम के संगी,
भरी सभा भी खामोश थी तब,
बोले बलि,
लंकापूरी ने मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है,
लंकापूरी में मुझको जाना है,
माता सिता का पता लगाना है।।

 Video

Singer : Mukesh Bagdaतर्ज – आज फिर जीने की तमन्ना है

This Post Has One Comment

Leave a Reply