लाल लंगोटा हाथ में सोटा भजन लिरिक्स

Lal Langota Hath Mai Sota Bhajan Lyrics

लाल लंगोटा हाथ में सोटा , बैठ्या बजरंग बाला
हृदय में सिया राम बिराजे , जपे राम की माला

चैत्र सुधी पुनम मंगल को , जन्म वीर ने पाया
शिव शंकर भोला बाबा ही , हनुमत बनके आया
केसरी नंदन कहलाया , माता अंजनी का लाला
हृदय में सिया राम बिराजे , जपे राम की माला

मंगल और शनिवार प्रेम से , जो सिन्दूर चढ़ाते
लाडू बूंदी और चूरमा , पेड़े भोग लगाते
संकट में वो सभी के आते , हनुमान रखवाला
हृदय में सिया राम बिराजे , जपे राम की माला

हनुमान बजरंगबली का , जो कोई नाम सुनावे
भूत प्रेत बेताल कोई भी , उसके पास ना आते
भक्तो के सब कष्ट मिटावे , ऐसा है कृपाला
हृदय में सिया राम बिराजे , जपे राम की माला

तन ते मन ते और वचन ते , जो सेवा में लागे
श्री राम की कृपा होती , सोई किस्मत जागे
भूलन दुःख दरिद्र भागे , भीतर का ज्ञान उजाला
हृदय में सिया राम बिराजे , जपे राम की माला

Lal Langota Hath Mai Sota Bhajan Lyrics Youtube Video

 Bhajan LyricsBalaji Ke Bhajan,बालाजी के भजन Hanuman Ji Ke Bhajan,हनुमान जी के भजनRam Bhakt Hanuman Ke Bhajan,राम भक्त हनुमान के भजन Lord Hanuman,भगवान हनुमान Hanuman Bhajan 

This Post Has One Comment

Leave a Reply