लीला श्याम धणी से म्हाने भी एक बार मिला दे रे लिरिक्स

लीला श्याम धणी से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे।

दोहा – लीला तू घनश्याम का,
है साँचा सेवादार,
थारी मर्जी से चले,
म्हारा श्याम धणी सरकार।

लीला श्याम धणी से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से,
या फिर इनसे मिलने का कोई,
या फिर इनसे मिलने का कोई,
जतन बता दे रे,
लीला श्याम धणीं से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से।।

रात दिना म्हाने चैन पड़े ना,
उसकी याद सतावे रे,
इतनो सो सन्देश श्याम तक,
इतनो सो सन्देश श्याम तक,
तू पहुंचा दे रे,
लीला श्याम धणीं से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से।।

सांवरिया थारी बात ना मोडे,
सारा जग बतलावे रे,
थोड़ी सी म्हारी करके सिफारिश,
थोड़ी सी म्हारी करके सिफारिश,
काम पटा दे रे,
लीला श्याम धणीं से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से।।

श्याम धणी की सेवा में,
मैं थारा हाथ बटावांगा,
चरण चाकरी मुरलीधर की,
चरण चाकरी मुरलीधर की,
तू दिलवादे रे,
लीला श्याम धणीं से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से।।

कइयाँ म्हाने मिले बिहारी,
सगळी बात बताओ जी,
श्याम मिलन का ‘आनंद’ ने,
श्याम मिलन का ‘आनंद’ ने,
रस्ता दिखलाओ रे,
लीला श्याम धणीं से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से।।

लीला श्याम धणी से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से,
या फिर इनसे मिलने का कोई,
या फिर इनसे मिलने का कोई,
जतन बता दे रे,
लीला श्याम धणीं से,
म्हाने भी एक बार मिला दे रे,
लीला श्याम धणीं से।।

Leave a Reply