लेलो जी लेलो रामजी रो नाम भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
गजानंद आनंद करो ,और करो सम्पत में सिर।
दुश्मन को सजन करो ,तो में नुत जिमाऊ खीर।

ले लो जी ले लो , ले लो भाइडा रे ,
ले लो ले लो रामजी रो नाम ।।

गणपत जीरा सुमिरण कर लो ,
शंकर मात पिता को सिंवरो ।
सिंवरो – सिंवरो पारवती माँय ।
भाइड़ा रे , ले लो ले लो ,
रामजी रो नाम ।
ले लो जी ले लो। …….

जगत पिता ब्रह्मा को सिंवरो ,
जग पालक विष्णु को सिंवरो ।
सिंवरो – सिंवरो सरसती माँय ।।
भाइडा रे , ले लो ले लो ,
रामजी रो नाम ।।
ले लो जी ले लो। …….

मात पिता अपने को सिंवरो ,
चरण पखावत गुरू को सिंवरो ।
सिंवरो – सिंवरो सतसंग माँय ।।
भाइडा रे , ले लो जी ले लो ,
राम जी रो नाम ।
ले लो जी ले लो। …….

भक्त मण्डल रीअरज सुण लो ,
भक्तों ने थे पार उतारो ।
हरिजी करेला बेड़ा पार ॥
भाइड़ा रे , ले लो जी ले लो ,
रामजीरो नाम ।
ले लो जी ले लो। …….

लेलो जी लेलो रामजी रो नाम, lelo ji lelo ramji ro naam, ram ji ke bhajan lyrics, shri ram bhajan lyrics

Leave a Reply