श्याम प्रभु का ध्यान लगा ले हर पल हर दिन सुबहो शाम लिरिक्स

श्याम प्रभु का ध्यान लगा ले,
हर पल हर दिन सुबहो शाम,
ना जाने कब तुमसे मिलने,
आ जाए तेरे घनश्याम,
ना जाने कब तुमसे मिलने,
आ जाए तेरे घनश्याम,
श्याम प्रभू का ध्यान लगा ले।।

ना जाने कब श्याम प्रभु को,
तेरी भक्ति भा जाए,
लीले घोड़े पर चढ़कर वो,
पास तेरे आ जाए,
ना जाने किस पल बन जाए,
तेरे सारे बिगड़े काम,
ना जाने कब तुमसे मिलने,
आ जाए तेरे घनश्याम,
श्याम प्रभू का ध्यान लगा ले।।

वो तो सदियों से भक्तों की,
रक्षा करते आए है,
तेरे पास भी आएँगे वो,
काहे तू घबराए है,
फल की चिंता छोड़ दे बन्दे,
लेता जा तू उनका नाम,
ना जाने कब तुमसे मिलने,
आ जाए तेरे घनश्याम,
श्याम प्रभू का ध्यान लगा ले।।

मन में हो विश्वास अगर तो,
श्याम प्रभु घर आते है,
दास ‘रवि’ कहता भक्तों को,
आस कभी भी नहीं छोड़ना,
आस का दामन रखना थाम,
ना जाने कब तुमसे मिलने,
आ जाए तेरे घनश्याम,
श्याम प्रभू का ध्यान लगा ले।।

श्याम प्रभु का ध्यान लगा ले,
हर पल हर दिन सुबहो शाम,
ना जाने कब तुमसे मिलने,
आ जाए तेरे घनश्याम,
ना जाने कब तुमसे मिलने,
आ जाए तेरे घनश्याम,
श्याम प्रभू का ध्यान लगा ले।।

कृष्ण भजन श्याम प्रभु का ध्यान लगा ले हर पल हर दिन सुबहो शाम…
तर्ज – क्या मिलिए ऐसे लोगो।

Leave a Reply