सतगुरु मिलता जाजो भजन लिरिक्स

।।दोहा।।
गुरु देवन के देव हो , आप बड़े जगदीश ।
बेड़ी भवजळ बीच में , गुरु तारो विशवावीश।।

दर्शण देता जाइजो जी ,
सतगुरु मिळता जाइजो जी ।
म्हारे पीवरियारी बातां थोड़ी म्हने ,
केता जाइजो जी ।

सोने जेड़ी पीली पड़ गई ,
दुनियाँ बतावे रोग ।
रोग दोग म्हारे काँई नी लागे ,
गुरु मिलण रो जोग ।
सतगुरु मिळता …….

म्हारे भाभे म्हने बींद बतायो ,
पकड़ बताई बाँह ।
काँई कहो मैं काँई न समझू ,
जीव भजनरे माँय ।
सतगुरु मिळता …….

म्हारे देश रा लोग भला है ,
पेहरे कंठी माला ।
म्हारा लागे वे भाई – भतीजा ,
राणा जी रा साळा ॥
सतगुरु मिळता …….

सासरियो संसार छोड़ियो ,
पीव ही लागे प्यारो ।
बाई रे मीरां ने गिरधर मिलियो ,
चरण कमल लिपटायो ।।
सतगुरु मिळता …….

सतगुरु मिलता जाजो भजन लिरिक्स satguru milta jaijo ji. darshan deta jaijo ji. satguru ke bhajan. prakash mali bhajan

This Post Has One Comment

Leave a Reply