सांझ ढ़लन को आई भजन लिरिक्स Bhajan Lyrics

सांझ ढ़लन को आई भजन लिरिक्स| Sanjh Dhalan Ko Aai Bhajan Lyrics

सांझ ढ़लन को आई,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई,
जीवन लौ थर थराइ,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई।

तेरी याद में पल पल रोऊँ,
मुख असुवन से मल मल धोऊं,
मेरी हुई जग हँसाई,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई,
सांझ ढ़लन को आई,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई।

सुनकर तेरी दया की गाथा,
तेरे दर पर टिक गया माथा,
काहे देर लगाईं,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई,
सांझ ढ़लन को आई,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई।

दीवानों में नाम लिख लीज्यो,
सुन्दर लाल को शरण रख लीज्यो,
तू ही एक सहाई,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई,
सांझ ढ़लन को आई,
अबहुँ नहीं आए कन्हाई।

सांझ ढ़लन को आई भजन लिरिक्स| Sanjh Dhalan Ko Aai Bhajan Lyrics Youtube Video

Krishn Bhjan,Kanhaiyan Ji Ke Bhajan,Saanjh Dhalan Ko Aai Bhajan Lyrics, Lord Krishna,Lord Krishn Songs

This Post Has 5 Comments

Leave a Reply