साधु भाई कर्मो से दुनिया मरती भजन | sadhu bhai karmo se duniya marti bhajan lyrics

।। दोहा ।।
नीच निचाई ना तजे – भलुहन के संग।
तुलसी चंदन बीट बसी वीष नही तजत भुसंत।

साधु भाई करमो से ,
दुनिया मरती।
धन जोबन मे गर्भयो डोले ,
आख्या नही रे उगड़ती ।

माला तो कई कई नर फेरे,
सुरता फीरे रे उदलती।
तीन दिन बस मे कर सुरता ,
दरगा दिखे हर की ।
साधु भाई ….

कंठा रे ऊपर हर हर बोले ,
ई सेवा मे गलती।
नाभि से एक नाम ना आवे ,
जुगती रे खोटा भरती ।
साधु भाई ….

बीना कसूर जीवाने मारे ,
गले पे छुरी धर की ।
हाथा रे चोर होवे वे नर तो ,
नरका मे होसी भरती ।
साधु भाई ….

चोरी चारी झूठ बोलणा ,
निंद्रा पराई करती।
आ दुनिया डुबण के लायक ,
अण खोदे मे पङती।
साधु भाई ….

लाल दास गुरू मिलिया पूरा ,
ग्यान दीया हे समरती।
चंदरो रे बारठ हरी गुण गावे ,
भव से पार उतरती।
साधु भाई ….

सांवरमल सैनी के भजन | sanwarmal saini bhajan video

साधु भाई कर्मो से दुनिया मरती sadhu bhai karmo se duniya marti सांवरमल सैनी के भजन marwadi desi bhajan lyrics
मारवाड़ी भजन लिरिक्स इन हिंदी
भजन :- कर्मो से दुनिया मरती
गायक :- सांवरमल सैनी

Leave a Reply