हमारे गुरु मिले ब्रह्मज्ञानी भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
यह तन विष की बेलरी, गुरु अमृत की खान ।
शीश दियो जो गुरु मिले, तो भी सस्ता जान ।

हमारे गुरु मिले ब्रम्हज्ञानी ,
पाई अमर निशानी।
हमारे गुरु मिले ब्रम्हज्ञानी।

काग पलट गुरु हंसा किन्हे ,
दीन्हि नाम निशानी।
हंसा पहुँचे सुख सागर पर,
मुक्ति भरे जहा पानी।
गुरु मिले ब्रम्हज्ञानी।
हमारे गुरु …..

जल बिच कुंभ कुंभ बिच जल है,
बाहर-भीतर पानी।
विकशों कुंभ जल जलहिं समाना,
ये गति विरले जानी।
गुरु मिले ब्रम्हज्ञानी।
हमारे गुरु …..

है अथाह थाह संतन में ,
दरिया लहर समानी।
धीवर डाल जाल का करिहै ,
जब नीम पिघल भए पानी।
गुरु मिले ब्रम्हज्ञानी।
हमारे गुरु …..

अन्धो का ज्ञान उजल तकि वाणी ,
सोहे अकछ कहानी।
कहे कबीर गूंगे की सेन ,
जिन जानी उन मानी।
गुरु मिले ब्रम्हज्ञानी।
हमारे गुरु …..

सतगुरु भजन वीडियो

हमारे गुरु मिले ब्रह्मज्ञानी भजन hamare guru mile brahmgyani guru ji ke bhajan lyrics
कबीर दास जी के भजन लिखे हुए
भजन :- हमारे गुरु मिले ब्रह्मज्ञानी

Leave a Reply