हरी नाम नही तो जीना क्या भजन लिरिक्स Hari Bhajan Lyrics

हरी नाम नही तो जीना क्या भजन लिरिक्स| Hari Naam Nahi To Jeena Kya Bhajan Lyrics

अमृत है हरी नाम जगत में
इसे छोड़ विषय विष पीना क्या
हरी नाम नही तो जीना क्या

काल सदा अपने रस डोले
ना जाने कब सिर चढ़ बोले
हरी का नाम जपो निसवासर
इसमें अब बरस महिना क्या
हरी नाम नही तो जीना क्या

तीरथ है हरी नाम तुम्हारा
फिर क्यों फिरता मारा मारा
अंत समय हरी नाम ना आवे
तो काशी और मदीना क्या
हरी नाम नही तो जीना क्या

भूषण से सब अंग सजावे
रसना पर हरी नाम ना आये
देह पड़ी रह जाये यही पर
फिर कुंडल और नगीना क्या
हरी नाम नही तो जीना क्या

अमृत है हरी नाम जगत में
इसे छोड़ विषय विष पीना क्या
हरी नाम नही तो जीना क्या |

Hari Naam Nahi To Jeena Kya Bhajan Lyrics, Rajan Ji Maharaj Bhajan Lyrics, Hari bhajan Youtube Video

Hari Naam Nahi To Jeena Kya Bhajan Lyrics, Rajan Ji Maharaj Bhajan Lyrics, Hari bhajan

This Post Has 5 Comments

Leave a Reply