हुई सफल कमाई महाराज भरतरी थारी भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
चन्दा सूरज चलता नी देखिया , वध तीनी देखी वेल ।
सही साधु सिमरता नी देखिया , ये कुदरत का खेल ।।

हुई सफल कमाई महाराज ,
भरतरी ओ थारी , भरतरी थारी ।
मालिक रे कारण जोग फकीरी धारी ।
ईश्वर रे कारण जोग फकीरी धारी ॥

राजा सूतो महल रे माँय ,
तरषणा जागी , तरषणा ओ जागी ।
ज्यां ने मिल गया गोरख नाथ ,
भरमना ओ भागी ।।
हुई सफल कमाई । …..

राजा गयो जंगल रे माँय ,
दे रयो हेला , दे रयो हेला ।
ज्यां ने मिल गया गोरख नाथ ,
मूड लिया चेला ।।
हुई सफल कमाई । …..

राजा जावो शहर रे माँय ,
दे आवो फेरी , दे आवो फेरी ।
पिंगळा ने कहिजो मात ,
करो मत देरी ॥
हुई सफल कमाई । …..

राजा गयो महल रे माँय ,
दे रयो फेरी , दे रयो फेरी ।
भिक्षा घालो पिंगळा मात ,
मत करो देरी ॥
हुई सफल कमाई । …..

राणी खड़ी महल रे माँय ,
लटिया तोड़े , लटिया तोड़े ।
राजा एक दिन पकड्यो हाथ ,
प्रीत काँई तोड़े ।
हुई सफल कमाई । …..

राणी खड़ी ड्योढ़ी के बीच ,
कळप रही काया , कलप रही काया
थारा मरजो गोरख नाथ ,
राज छुड़वाया ॥
हुई सफल कमाई । …..

राणी मत दे गुरुने गाळ ,
करम रेखा न्यारी , करम रेखा न्यारी ।
म्हारे लिखिया विधाता लेख ,
टरे नहीं टारी ॥
हुई सफल कमाई । …..

एक सोहन शिखर रे बीच ,
सांकड़ी सेरी , सांकड़ी सेरी ।
ए गावे जरणानाथ ,
भजन रा ओ लहरी ॥
हुई सफल कमाई । …..

prakash mali bhajan lyrics video

हुई सफल कमाई महाराज भरतरी थारी hui safal kamai maharaj bharthari thari, malik ke karan jog fakiri dhari raja bharthari ki katha
raja bharthari ki katha hindi lyrics
भजन :- हुई सफल कमाई महाराज भरतरी
गायक :- प्रकाश माली

Leave a Reply