हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी भजन लिरिक्स

 Hun Kyu Kara Parvah Mai Jag Di Bhajan Lyrics

जद दा तेनु भूल गया सी माँ कखा वांगु रुल गेया सी माँ,
मतबल खोरी दुनिया ने जद दा मेनू ठुकराया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

मैं गलतिया दा सी पुतला माये तू फिर भी कीने राह दिखाए,
जो मुसीबता मेरे ते पाईया करदा तू सफाया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

सब कुछ सी अपना मैं खोया दर दर दा मोहताज सी होया,
ठागिया मारण रोकेया मेनू तू करना दान सिखाया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

दयाल पूरी दी एह कहानी लिखदी ओहदी कलम निमानी,
मिठड़े मिठड़े बोला नाल लख विंदर ने गाया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

Hun Kyu Kara Parvah Mai Jag Di Bhajan Lyrics Youtube Video

 Jag Di Bhajan LyricsMata Ji Ke Bhajan,माता जी के भजन Durga Mata Ke Bhajan, दुर्गा माता के भजन Godess Durga, देवी दुर्गा Navratri Special Bhajan, नवरात्री  स्पेशल भजनDurga Bhajan,दुर्गा भजन  

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply