है दुख भंजन मारुति नंदन भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
लाल देह लाली लसे ,अरूधर लाल लंगूर।
वज्र देव दानव दलन , जय जय कपि सुर।

हे दुःख भंजन मारुती नंदन ,
सुन लो मेरी पुकार।
पवन सूत विनती बारम्बार।

अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता ,
दुखियो के तुम भाग्ये विधाता।
सिया राम के काज सवारे ,
मेरा कर उद्धार।
पवन सूत विनती बारम्बार।
हे दुःख भंजन। …..

अपरम्पारा है शक्ति तुम्हारी ,
तुम पर रिधे अवध बिहारी।
भक्ति भाव से ध्यावु तो है ,
कर दुखो से पार।
पवन सूत विनती बारम्बार।
हे दुःख भंजन। …..

जपहु निरंतर नाम तिहारा ,
अब नहीं छोड़ू तेरा द्वारा।
राम भक्त मोह शरण में लीजे ,
भव सागर से तार।
पवन सूत विनती बारम्बार।
हे दुःख भंजन। …..

हे दुःख भंजन मारुती नंदन ,
सुन लो मेरी पुकार।
पवन सूत विनती बारम्बार।

है दुख भंजन मारुति नंदन भजन लिरिक्स hey dukh bhanjan maruti nandan sun lo meri pukar .hanuman ji bhajan

Leave a Reply