हो के लीले पे सवार करने भक्तों का उद्धार भजन लिरिक्स

हो के लीले पे सवार,
करने भक्तों का उद्धार,
खाटू नगरी से आएगा,
श्याम सरकार,
हों के लीले पे सवार,
करने भक्तों का उद्धार।।

हाथो में सोहे उसके,
मोर छड़ी प्यारी,
चल पड़ा है खाटू से,
तीन बाण धारी,
भर देगा सबका भंडार,
भक्तों हो जाओ तैयार,
खाटू नगरी से आएगा,
श्याम सरकार,
हों के लीले पे सवार,
करने भक्तों का उद्धार।।

हर कीर्तन में आते सांवरिया,
हर भक्तों की लेते खबरिया,
कलयुग का है ये अवतार,
नैया सबकी करते पार,
खाटू नगरी से आएगा,
श्याम सरकार,
हों के लीले पे सवार,
करने भक्तों का उद्धार।।

जहाँ जहाँ ज्योत मेरे,
सांवरे की जलती,
बाबा की किरपा,
वहां पे बरसती,
श्याम गावो मंगलाचार,
करलो करलो जय जयकार,
खाटू नगरी से आएगा,
श्याम सरकार,
हों के लीले पे सवार,
करने भक्तों का उद्धार।।

हो के लीले पे सवार,
करने भक्तों का उद्धार,
खाटू नगरी से आएगा,
श्याम सरकार,
हों के लीले पे सवार,
करने भक्तों का उद्धार।।

Leave a Reply