Hindi Lyrics ऐसा ऐसा लगन लिखाया गुरुजी Bhajan

ऐसा ऐसा लगन लिखिया गुरु जी मारा ,ऐसा ऐसा लगन लिखिया है।
जनम जनम से कुवारी मारी सुरता ,अब के ब्याह रचाया है।

हरी नाम की हल्दी लगाई ,चित का चन्दन लगाया है।
दया धर्म की मेहँदी लगाई ,लाल लाल रंग आया है।
ऐसा ऐसा लगन। …..

आला नीला बॉस कटाया ,मितिया सु मंडप सजाया है।
पांच पचीस बैठी सहेलिया ,मिल के मंगल गाया है।
ऐसा ऐसा लगन। …..

धूम धडाका सु चढ़ी बराता ,बैंड बाजा बजाया है।
आगे आगे ढोल बजत है ,बारातियो को नचाया है।
ऐसा ऐसा लगन। …..

सूरत दुरत में फेरा फरिया ,ओ कन्या दान कराया है।
सतगुरु सरने धर्म राज बोलिया ,बिन्द परन घर आया है।
ऐसा ऐसा लगन। …..

ऐसा ऐसा लगन लिखिया गुरु जी मारा ,ऐसा ऐसा लगन लिखिया है
जनम जनम से कुवारी मारी सुरता ,अब के ब्याह रचाया है।

janam janam ki kuwari mhari surta Bhajan Video
भजन :- ऐसा ऐसा लगन लिखिया गुरुजी
गायक :- धनराज जोशी

Leave a Reply