Hindi Lyrics श्याम तेरी मेरी प्रीत पुरानी Bhajan

श्याम तेरी मेरी मेरी तेरी ,है ये प्रीत पुरानी। २।

तेरी कृपा से सब हो पाया ,
बिन पंखो के में उड़ पाया।
तेरे दर से पहचान मिली है ,ओ शीश के दानी।
श्याम तेरी मेरी। ….

हारे का सहारा तू जय लखदातारी ,
तेरी रहमतो पर जाऊ बलिहारी।
बाबा तेरी रहती हर पल ,बड़ी बेहेरबानी।
श्याम तेरी मेरी। ….

तेर अहसानो का में करू शुकराना ,
प्रेम का ये बंधन सदा ही निभाना।
चलता तेरे ही दम पर ही तो ,मेरा दाना पानी।
श्याम तेरी मेरी। ….

तेरी मर्जियो से है होनी अनहोनी।
सेवा में रहता है दास तेरा टोनी।
तुमसे टूटे प्रीत कभी ना ,ये कहता चोखानी।
श्याम तेरी मेरी। ….

श्याम तेरी मेरी मेरी तेरी ,है ये प्रीत पुरानी। २।

Videoश्याम तेरी मेरी प्रीत पुरानी Bhajan
भजन :- श्याम तेरी मेरी प्रीत पुरानी
गायक :- सुखजीत सिंह

Leave a Reply