Mane Budhdhi Dijo Maharaj Gajanand gori Ke Nanda Rajasthani Bhajan Lyrics

!! गणपति वंदना भजन !!

माने बुद्धि दीजो महाराज गजानंद गौरी के नंदा।
ओ गवरी के नंदा ,गजानंद गौरी के नंदा। २

पिता तुम्हारे शिव शंकर है , मस्तक पे चन्दा।
माता तुम्हारी पार्वती कहिये ,जावे जगत बंदा। २
माने बुद्धि दीजो महाराज गजानंद गौरी के नंदा।
ओ गवरी के नंदा ,गजानंद गौरी के नंदा। २

मूसक वाहन दुंद दुंदाला , पर साहस लेता।
ओजी गले पेजंती ,माला बिराजे चढ़े पुष्प चन्दा। २
माने बुद्धि दीजो महाराज गजानंद गौरी के नंदा।
ओ गवरी के नंदा ,गजानंद गौरी के नंदा। २

जो नर तुमको नहीं सीवरता , उसका भाग मंदा।
जो नर तेरी करे सेवना , चले रे जग धन्धा। २
माने बुद्धि दीजो महाराज गजानंद गौरी के नंदा।
ओ गवरी के नंदा ,गजानंद गौरी के नंदा। २

विगण हरण मंगल करण ,विद्या वर देना।
कहता कालू राम भजन से कटे रे पाप फन्दा। २
माने बुद्धि दीजो महाराज गजानंद गौरी के नंदा।
ओ गवरी के नंदा ,गजानंद गौरी के नंदा। २

prakash mali ka bhajan
भजन :- माने बुद्धि दीजो महाराज
गायक :- प्रकाश माली

Leave a Reply