ram ji ke bhajan lyrics In Hindi | मंगल भवन अंमगल हारी !

मंगल भवन अमंगल हारी , द्रवहु सुदशरथ अजिर बिहारी ॥
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ॥

रघुकुल रीति सदा चली आई , प्राण जाय पर वचन न जाई ।
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ।

हरी अनन्त हरी कथा अनंता,कहहिं सुनहिं बहुविधि सबसंता।
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ।

कलियुग केवल नाम आधारा, सुमर सुमर भव उतरहुँ पारा।
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ।

ram ही केवल प्रेम पियारा , जान लिया जग जानन हारा ।
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ।

धीरज धर्म मित्र अरू नारी , आपतकाल परखिये चारी ॥
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ।।

जांकी रही भावना जैसी , प्रभु मूरत देखी तिन वैसी ।
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ॥

जां पर किरपा राम की होई , तां पर किरपा करे हर कोई
राम सियाराम सियाराम जय जय राम ।।

ram siyaram siyaram jay jay ram Bhajan Video
भजन :- मंगल भवन अंमगल हारी
गायक :- कुमार विशु

Leave a Reply