Sabda Ki Chot Naga Nugra Ke Nhi Lage Bhajan Hindi Lyrics

सबदा री चोट नागा ,नुगरा के नहीं लागे।
हथोड़ा तोड़ो तोई ,टाची टोला के नहीं लागे।

अरे मनडा की बाता केनी ,अरे वा समज्या के आगे।
अरे या आख्या को नहीं खोज खोनो ,आंधलिया के आगे।
अरे सबदा री चोट नागा ,नुगरा के नहीं लागे।
हथोड़ा तोड़ो तोई ,टाची टोला के नहीं लागे।

अरे माथो नहीं जुकाणो पापी,पाखंडी के आगे।
अरे यो हाथ नहीं फैलाणो ,कदी मंगता के आगे।
अरे सबदा री चोट नागा ,नुगरा के नहीं लागे।
हथोड़ा तोड़ो तोई ,टाची टोला के नहीं लागे।

अरे सांप को नहीं जोर चाले,नोलिया के आगे।
अरे जमारो कटे नहीं मोलिया माटी के आगे।
अरे सबदा री चोट नागा ,नुगरा के नहीं लागे।
हथोड़ा तोड़ो तोई ,टाची टोला के नहीं लागे।

अरे गुरु जी बताई बता में केउ थाके आगे।
अरे उकारा को खर्चो ,इमें घाट को नहीं लागे।
अरे सबदा री चोट नागा ,नुगरा के नहीं लागे।
हथोड़ा तोड़ो तोई ,टाची टोला के नहीं लागे।

! नुगरा के नहीं लागे |”भजन :- चोट नागा नुगरा के नहीं लागे | गायक :- पप्पू वैष्णव

Leave a Reply