thali bhar ke layi khichdo Bhajan Hindi Lyrics | थाली भर के लाई खीचड़ो | Krishna Bhajan Lyrics

थाली भर के लाई खीचड़ो ,ऊपर घी की बाटकी।
जीमो मारा श्याम धणी ,जिमावे बेटी जाट की। २

दादो मारो गांव गयो है ,कुण जाणे कद आवगो।
दादा रे भरोसे सवारों ,भूखो रे मर जावेलो।
आज जिमाऊ थाने खीचड़ो ,ऊपर घी की बाटकी ,
जीमो मारा। ……

बार बार मंदिर में जाती ,बार बार पट खोलती।
कैय्या क्यों ना बोलू मोहन ,करणी करणी बोलती।
थू जिमे जद में जीमुला ,मानु ना कोई जाट की।
जीमो मारा। ……

परदो करणो भूल गई में ,परदो फेर लगाओ है ।
परदा रे तो आले बैठ ने ,श्याम खीचड़ो खायो है ।
भोला रे भक्ता रा भिड़ु ,कैय्या राखे ठाट की।
जीमो मारा। ……

भक्ति हो तो करमा जैसी , सांवरियो घर आयो है।
सोहन लाल लुहागर प्रभु का ,हरस हरस गुण गावे है।
साचो प्रेम प्रभु में वे तो ,मूरत बोले भाट की।
जीमो मारा। ……

भजन :- थाली भर के लायी रे खीचड़ो
गायक :- गोपाल दास वैष्णव
gopal das vaishnav bhajan video

Leave a Reply