पिंजरा के पंछी बोले भजन Lyrics

पञ्जरस्य पक्षिणः अवदन्
कुंडी खोते रहें।
मोला पर लगदे राम
मोला पार लगदे राम।

मोला गन्तुं भवति।
राम लाला के धाम जाना है।

राम राम के नाम ला लेवत।
त्वरितम् उड्डीयताम्।
धारयितुं कियत्कालं भवति ?
विदारिताः हस्ताः नवीनाः सन्ति।

मेहा बहु मोला गृह्णाति।
विदारिताः हस्ताः नवीनाः सन्ति।
अतः अहं पादयोः पतति।
जीवन को सफल बनाये।

मोला पर लगदे राम ।
मोला गन्तुं भवति।
राम लाला के धाम जाना है।

रतन सिहासन इति किम् ?
का तोर महल अत्तारी।
मयूर बार सब मिट्टी के ढेला।
सुनले रे संगवारी ।

मयूर बार सब मिट्टी के ढेला।
सुनो, पुनः संगवारी।
यदा सन्देः आगतः।
सुवना मयूर देह प्रवहति।

मोला गन्तुं भवति।
राम लाला के धाम जाना है।

लाला चंचल राम दरश बार।
Gun Guys आजीवनं यावत्।
राम नाम की महिमा गाओ।
लोके बग्रैस् ।

राम नाम की महिमा गाओ।
विश्व माता बगरैस।
अनामिका के सुनले बानी।
सुवन येः शरीरस्य पुत्री अस्ति।

मोला गन्तुं भवति।
राम लाला के धाम जाना है।

पञ्जरस्य पक्षिणः अवदन्।
कुंडी खोलते रहें।
मोला पर लगदे राम ।
मोला पार लगदे राम।

मोला गन्तुं भवति।
राम लाला के धाम जाना है।

Leave a Reply