एक तिनके के जैसा बिखर जाएगा भजन लिरिक्स

एक तिनके के जैसा,बिखर जाएगा,पाप करते हो जिस,ज़िंदगी के लिए,शाम होते ही सूरज,भी ढल जाएगा,ऐसा नियम बना है,सभीं के लिए,एक तिनके के जैंसा,बिखर जाएगा।। आदमी तुम भी हो,आदमी मैं भी…

Continue Readingएक तिनके के जैसा बिखर जाएगा भजन लिरिक्स