आन बान मर्यादा राखन जीवन बनगो जंग रे,

आन बान मर्यादा राखन,जीवन बनगो जंग रे,आन बान मर्यादा राखन,जीवन बनगो जंग रे,सांगा के सौ घाव शरीरा,आभूषण ज्यु अंग रे,हाथ कट्यो कद पाव कट्यो कद,आँख काट दी संग रे,पाछा पाव…

Continue Readingआन बान मर्यादा राखन जीवन बनगो जंग रे,