तेरे एहसानों को कैसे मैं भुलाऊँगा भजन लिरिक्स

तेरे एहसानों को,कैसे मैं भुलाऊँगा,जब तक साँस चले,महिमा तेरी गाऊँगा।। ना जाने कितने,उपकार तेरे,संकट से लड़ता,हर पल तू मेरे,बिन तेरे ना मैं,चल पाऊँगा,तेरे एहसानो को,कैसे मैं भुलाऊँगा,जब तक साँस चले,महिमा…

Continue Readingतेरे एहसानों को कैसे मैं भुलाऊँगा भजन लिरिक्स