कल्याण धणी का मेला में झांको कांई लुल लुल नाचो जी

झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला में,
मेला मे मेला मे,
झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला मे।।

डीग्गी पुरी मे कल्याण पुजावे,
सब भग्ता के मन मे भावे,
सब जय जयकार लगावो जी,
कल्याण धणी का मेला मे,
झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला मे।।

सावण माही मेलो लागे,
सब भग्ता को कीसमत जागे,
सब मनडा री बात बताओ जी,
कल्याण धणी का मेला मे,
झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला मे।।

गणेश वालो डीजे बाजे,
छम्मक छम्मक गोरी नाचे,
सब मीलकर ताली बजाओ जी,
कल्याण धणी का मेला मे,
झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला मे।।

पटवारी थारी महीमा गावे,
सब भग्ता के मन मे भावे,
श्योपुर सु यात्रा चाली जी,
कल्याण धणी का मेला मे,
झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला मे।।

झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला में,
मेला मे मेला मे,
झांको कांई लुल लुल नाचो जी,
कल्याण धणी का मेला मे।।

राजस्थानी भजन कल्याण धणी का मेला में झांको कांई लुल लुल नाचो जी

Leave a Reply