गाजण माँ मैं तो थाने मोटा देवी जानीया

गाजण माँ मैं तो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए माताजी मैं तो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए थारे धर्मधारी में,
लागे घनेरी भीड़,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

ए गाजण माँ परिहारा री,
कुल री कहिजे मावडी,
ए गाजण माँ धर्मधारी मे,
बनीयो मोटो धाम,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

ए गाजण माँ ऊंचे रे,
भाकर में बैठी मावडी,
अजी कोई पूरे पूरे,
सब भगतो री आस,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

ए गाजण माँ ढोल ने,
नगाड़ा बाजे नोपता,
ए गाजण माँ बाजे थारे,
झालर रो झनकार,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

ए गाजण माँ आवो रे,
भगतो रे थेतो आंगने,
ए कोई संग माय भैरूजी ने लाव,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

ए गाजण माँ भगत मंडल,
री सुनजो विनती,
गाजण माँ परिहार परिवार,
री सुनजो विनती,
ए गाजण माँ गावा गावा,
बडगावडा माय,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

ए माताजी मैं तो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए थारे धर्मधारी में,
लागे घनेरी भीड़,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

गाजण माँ मैं तो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए माताजी मैं तो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया,
ए थारे धर्मधारी में,
लागे घनेरी भीड़,
भगतो रा कारज सारीया,
ए गाजण माँ मेतो थाने,
मोटा देवी जानीया।।

राजस्थानी भजन गाजण माँ मैं तो थाने मोटा देवी जानीया

Leave a Reply