जय दुर्गे दुर्गति परिहारिणी

जय दुर्गे दुर्गति परिहारिणी |
शंभु विदारिणी माता भवानी||

आदि शक्ति परब्रह्म स्वरूपिणि
जग जननी चहूँ वेद बखानी
ब्रह्मा शिव हरि अर्चन कीन्हो
ध्यान धरत सुर नर मुनि ग्यानि ||१||

अष्ट भुजा कर खड्ग बिराजे
सिंह सवार सकल वरदानी
ब्रह्मानंद चरण मे आये
भव भय नाश करो महारानी||२||

Leave a Reply