जगदम्बे कृपा कीजिए हमको अपनी शरण लीजिए लिरिक्स

जगदम्बे कृपा कीजिए,
शेरावाली कृपा कीजिए,
जगदम्बे दया कीजिए,
शेरावाली दया कीजिए,
हमको अपनी शरण लीजिए।।

उँचे पर्वत पे जा क्यों बसी,
उँचे पर्वत पे जा क्यों बसी,
नीचे आके सुधि लीजिए,
जगदम्बे दया कीजिए।।

कई जन्मों से फिरते रहे,
कई जन्मों से फिरते रहे,
माँ अब तो शरण लीजिए,
जगदम्बे दया कीजिए।।

भीगे नैनो की अरदास है,
भीगे नैनो की अरदास है,
अब तो आके दरश दीजिए,
जगदम्बे दया कीजिए।।

हम ना भूले कभी आपको,
हम ना भूले कभी आपको,
हम पे ऐसी कृपा कीजिए,
जगदम्बे दया कीजिए।।

जगदम्बे कृपा कीजिए,
शेरावाली कृपा कीजिए,
जगदम्बे दया कीजिए,
शेरावाली दया कीजिए,
हमको अपनी शरण लीजिए।।

Leave a Reply