तेरे पुजन को हनुमान बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान

तेरे पुजन को हनुमान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान।।

जग में पर्बत तुम्हारी माया,
नहीं कोई भेद तुम्हारा पाया,
जग में पर्बत तुम्हारी माया,
नहीं कोई भेद तुम्हारा पाया,
करे दिन भक्ति में ध्यान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान,
तेरे पूजन को हनुमान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान।।

तु ही जग के कष्ट मिटावे,
तु ही अदभुत खेल रचावः,
तु ही जग के कष्ट मिटावे,
तु ही अदभुत खेल रचावः,
है तू व्यापक सकल जहान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान,
तेरे पूजन को हनुमान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान।।

सारे जग का दुख हर लिजे,
तब भक्ति चरणन की दीजे,
सारे जग का दुख हर लिजे,
तब भक्ति चरणन की दीजे,
कर दया दिन जग जहान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान,
तेरे पूजन को हनुमान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान।।

तुम बिन जग में नाथ हमारा,
दिखत नहीं कोई सहारा,
तुम बिन जग में नाथ हमारा,
दिखत नहीं कोई सहारा,
ये विनय करे कल्याण,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान,
तेरे पूजन को हनुमान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान।।

तेरे पुजन को हनुमान,
बना तेरा मेंहदीपुर अस्थान।।

Leave a Reply