मेरी मैया दर्श दिखादे री मेरी अखियों की प्यास बुझादे री

हरियाणवी भजन मेरी मैया दर्श दिखादे री मेरी अखियों की प्यास बुझादे रीगायक – बंटी सैनी सीवन। मेरी मैया दर्श दिखादे री,मेरी अखियों की प्यास बुझादे री,मेरी मईया दर्श दिखादे…

Continue Readingमेरी मैया दर्श दिखादे री मेरी अखियों की प्यास बुझादे री

तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए हरियाणवी भजन

हरियाणवी भजन तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए हरियाणवी भजन तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए,हनुमान हो लिए हनुमान हो लिए,तेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए।। तेरे…

Continue Readingतेरी शान प कुर्बान हनुमान हो लिए हरियाणवी भजन

बिना हे मर्द बेबे किसी हो लुगाई भजन लिरिक्स

हरियाणवी भजन बिना हे मर्द बेबे किसी हो लुगाई भजन लिरिक्सगायक – नरेन्द्र कौशिक। बिना हे मर्द बेबे किसी हो लुगाई,बोलः कोनया चालः मेरी,नणदी का भाई।। सारी हाणांं घुरे जा…

Continue Readingबिना हे मर्द बेबे किसी हो लुगाई भजन लिरिक्स

बालाजी मेरे मन में बसगे राम बाट तेरे आवण की रह री

हरियाणवी भजन बालाजी मेरे मन में बसगे राम बाट तेरे आवण की रह रीगायक – नरेंद्र कौशिक जी। बालाजी मेरे मन में बसगे राम,बाट तेरे आवण की रह री।। तेरे…

Continue Readingबालाजी मेरे मन में बसगे राम बाट तेरे आवण की रह री

मन्नै मेरे सतगुरु तं मिलवादे हो बाबा लाल लंगोटे आले

हरियाणवी भजन मन्नै मेरे सतगुरु तं मिलवादे हो बाबा लाल लंगोटे आलेगायक – नरेंद्र कौशिक जी। मन्नै मेरे सतगुरु तं मिलवादे,हो बाबा लाल लंगोटे आले।। तेरी शरण में गुरू मुरारी,नाम…

Continue Readingमन्नै मेरे सतगुरु तं मिलवादे हो बाबा लाल लंगोटे आले

हो मेरे गुरू मुरारी लाल तेरी कितणी करूं बडाई

हरियाणवी भजन हो मेरे गुरू मुरारी लाल तेरी कितणी करूं बडाईगायक – नरेंद्र कौशिक जी। हो मेरे गुरू मुरारी लाल,तेरी कितणी करूं बडाई।। हुक्टी ले क बैठ ध्यान में,सबने समझावः…

Continue Readingहो मेरे गुरू मुरारी लाल तेरी कितणी करूं बडाई

मेंहदीपुर के बालाजी मेरा काम बणादे न भजन लिरिक्स

मेंहदीपुर के बालाजी,मेरा काम बणादे न,मेरी होज्या बोड़िया ठीक,तुं ऐसा झाड़ा लादे न।। मैं घुम लिया जग सारे मेंं,इब आगया तेरे द्वारे में,हो इस संकट ने बालाजी,तुं दुर हटा दे…

Continue Readingमेंहदीपुर के बालाजी मेरा काम बणादे न भजन लिरिक्स

बिना बाप के बेटा सुना बिन माता के र छोरी लिरिक्स

बिना बाप के बेटा सुना,बिन माता के र छोरी,बिन भूमि जमीदारा सुना,बिन बालम के र गौरी।। बिना बाप के बेटे ने सब,भली भुरी भी केहे जावे,थापड़ घुसे लात मर्जा,बैठा बैठा…

Continue Readingबिना बाप के बेटा सुना बिन माता के र छोरी लिरिक्स