holi bhajan lyrics in hindi | होली भजन लिरिक्स इन हिंदी,

holi bhajan lyrics in hindi | होली भजन लिरिक्स इन हिंदी, rajasthani holi bhajan lyrics, shiv holi bhajan lyrics, braj holi bhajan lyrics, punjabi holi Bhajan lyrics, shyam baba holi bhajan lyrics,

फागुन की प्यारी बेला है चलो श्याम से होली खेलेंगे लिरिक्स

फागुन की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
फागुण की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे

हम खाटू धाम को जाएंगे,
रंग केसरिया घुलवाएंगे,
लगा श्याम के दर पर मेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
फागुण की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे।।

सांवरिया श्याम बुलाता है,
सब को ही गले लगाता है,
मेरा श्याम बड़ा अलबेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
फागुण की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे।।

होली में सबके ही संग में,
रंग जाता भक्तों के रंग में,
यह खेल अनोखा खेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
फागुण की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे।।

‘शोभा’ के हाथ पिचकारी है,
बाबा श्याम की प्रेम पुजारी है,
‘रज्जो’ मिश्री का ढेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
फागुण की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे।।

फागुन की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
चलो श्याम से होली खेलेंगे,
फागुण की प्यारी बेला है,
चलो श्याम से होली खेलेंगे।।

होली खेलन राधा आई रे आओ श्याम बिहारी लिरिक्स

होली खेलन राधा आई रे,
आओ श्याम बिहारी,
श्याम बिहारी घनश्याम बिहारी,
श्याम बिहारी घनश्याम बिहारी,
रुत रंगा की आई रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेंलन राधा आयी रे,
आओ श्याम बिहारी।।

घिस घिस केसर रंग बनाया,
भांत भांत का इतर मिलाया,
दिल में उमंगे छाई रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेंलन राधा आयी रे,
आओ श्याम बिहारी।।

ग्वाल बाल सब सखिया आई,
कहे नाटिको श्याम कन्हाई,
अब ना होत समायी रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेंलन राधा आयी रे,
आओ श्याम बिहारी।।

आज श्याम नहीं बच पाओगे,
छुप के हमसे कित जाओगे,
‘नंदू’ अर्ज लगाई रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेंलन राधा आयी रे,
आओ श्याम बिहारी।।

होली खेलन राधा आई रे,
आओ श्याम बिहारी,
श्याम बिहारी घनश्याम बिहारी,
श्याम बिहारी घनश्याम बिहारी,
रुत रंगा की आई रे,
आओ श्याम बिहारी,
होली खेंलन राधा आयी रे,
आओ श्याम बिहारी।।

मेरी कोरी चुनरिया आज श्याम क्यूँ रंग डाला भजन लिरिक्स

मेरी कोरी चुनरिया आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
आई मुझको कितनी लाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

करुँगी शिकायत मैं यशोदा से,
करुँगी शिकायत मैं यशोदा से,
दिल वारु सदा तुझे याद,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

दहिया में तूने रंग मिलाया,
दहिया में तूने रंग मिलाया,
आये आदत से ना बाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

भर पिचकारी मारे सर र र,
भर पिचकारी मारे सर र र,
तेरा गलत बड़ा अंदाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

क्रोध भी आए प्यार भी आए,
क्रोध भी आए प्यार भी आए,
क्या इसमें छिपा है राज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
मेरी कोरी चुनरियाँ आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

मेरी कोरी चुनरिया आज,
श्याम क्यूँ रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
रंग डाला रे रंग डाला,
आई मुझको कितनी लाज,
श्याम क्यूँ रंग डाला।।

होली जला रहे हनुमान जा रावण की लंका में भजन लिरिक्स

होली जला रहे हनुमान,
जा रावण की लंका में,
जा रावण की लंका में,
इस रावण की लंका में,
किया राम का नाम महान,
जा रावण की लंका में,
होली जला रहे हनुमान,
जा रावण की लंका में।।

थी रावण वाटिका प्यारी,
हनुमत ने जाय उजाड़ी,
हो गए असुर सभी हैरान,
जा रावण की लंका में,
होली जला रहें हनुमान,
जा रावण की लंका में।।

जब अक्षय कुमार था आया,
बजरंग ने मार गिराया,
ले लिए रावण सूत के प्राण,
जा रावण की लंका में,
होली जला रहें हनुमान,
जा रावण की लंका में।।

बेटे की लाश रखी है,
असुरों की सभा लगी है,
कैसा वानर है बलवान,
जा रावण की लंका में,
होली जला रहें हनुमान,
जा रावण की लंका में।।

लंकेश ने सजा सुनाई,
हनुमत की पूछ जलाई,
जल गए सारे महल मकान,
जा रावण की लंका में,
होली जला रहें हनुमान,
जा रावण की लंका में।।

‘बैरागी’ रस रंग घोले,
जय राम जी हनुमत बोले,
गावे सभी देव गुणगान,
जा रावण की लंका में,
होली जला रहें हनुमान,
जा रावण की लंका में।।

होली जला रहे हनुमान,
जा रावण की लंका में,
जा रावण की लंका में,
इस रावण की लंका में,
किया राम का नाम महान,
जा रावण की लंका में,
होली जला रहे हनुमान,
जा रावण की लंका में।।

कन्हैया प्यारे से नन्द के दुलारे से खेलेंगे होली लिरिक्स

कन्हैया प्यारे से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज,
की बच नहीं पाएगा,
छुप के कहाँ जाएगा,
खेलेंगे होली हम तो आज,
की बच के जाएगा वो कहाँ,
कन्हैया प्यारें से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज।।

रंग बिरंगी देखो,
होली की रूत है आई,
राधा के संग में तो,
सखियों की टोली आई,
रंग भरे हाथ है, हाथ है,
भर पिचकारियाँ,
कन्हैया प्यारें से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज।।

ग्वाल बाल भी सोचे,
सखियों को मजा चखाएं,
इनको ही रंग देंगे,
जब ये रंगने को आए,
रंगना भूल जाएगी, जाएगी,
ऐसा करेंगे हाल,
कन्हैया प्यारें से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज।।

कान्हा से मिलना है,
होरी का तो है बहाना,
राधा को तो केवल,
कान्हा का दर्शन पाना,
आ जाओ मोहना, मोहना,
और नही तरसा,
कन्हैया प्यारें से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज।।

सुन बातें राधा की,
कान्हा भी दोड़े आए,
प्रेम रंगी राधा को,
मन मोहन गले लगाए,
हम दोनों एक है, एक है,
एक हमारा नाम,
कन्हैया प्यारें से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज।।

कन्हैया प्यारे से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज,
की बच नहीं पाएगा,
छुप के कहाँ जाएगा,
खेलेंगे होली हम तो आज,
की बच के जाएगा वो कहाँ,
कन्हैया प्यारें से,
नन्द के दुलारे से,
खेलेंगे होली हम तो आज।।

आओ रे ग्वालो आओ पिचकारी भर लाओ होली भजन लिरिक्स

आओ आओ आओ रे ग्वालो आओ,
पिचकारी भर लाओ।

दोहा – हाथों में गुलाल लेकर,
ग्वाल बाल की टोली,
सखियों के संग खेलन आए,
रंग बिरंगी होली,
हाथों में रंग है भरकर,
आए देखो कान्हा,
प्रेम रंग राधा को रंगूंगा,
मोहन ने है ठाना।

आओ आओ आओ रे ग्वालो आओ,
पिचकारी भर लाओ,
भर लाओ रे गुलाल जी,
होली में कर डालो सबको,
लालम लाल जी।।

कोई सखी भी देखो,
बचने ना पाए,
मारो रंग भर पिचकारी,
राधा को रंगने दौड़े चले है,
देखो रे देखो बनवारी,
लाल गुलाबी नीला पिला,
हर कोई रंगीला,
देखो ग्वाले सखियों को है सताए,
सखियों को है रुलाए,
मचाते है धमाल जी,
होली में कर देंगे सबको,
लालम लाल जी।।

राधा भी आई है,
करके तैयारी,
हाथों में रंग की थाल है,
आज बचेगा ना नन्द का लाला,
रंग दूंगी मैं गुलाल से,
कान्हा ने भी राधा जी की,
पिचकारी ली छिनी,
राधे आगे पीछे कन्हैया भागे,
रंगों में रंग डाला,
किया है बुरा हाल जी,
होली में कर देंगे सबको,
लालम लाल जी।।

राधा के मोहन है,
मोहन की राधे,
होरी का तो बहाना है,
प्रेम के रंग में इन दोनों को,
प्रेम से रंग जाना है,
प्रेम से दोनों होरी खेले,
लीलाए दिखलाए,
आओ दरश सब पाओ,
ये मौका ना गंवाओ,
पा जाओ रे दीदार जी,
होली में कर देंगे सबको,
लालम लाल जी।।

आओ आओ आओ रे ग्वालो आओ,
पिचकारी भर लाओ,
भर लाओ रे गुलाल जी,
होली में कर डालो सबको,
लालम लाल जी।।

होली आई उड़े रे गुलाल भजन लिरिक्स

होली आई उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया,
कैसरिया जी रंग कैसरिया,
कैसरिया जी रंग कैसरिया,
होली आयी उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया।।

फागुण मास सुरंगों आयो,
संग में सारी खुशियां लायो,
अरे उड़े रे बदन में झाल,
डालो जी रंग कैसरिया,
होली आयी उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया,
कैसरिया जी रंग कैसरिया,
होली आयी उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया।।

ब्रज की नवेली बड़ी अलबैली,
चम्पा चमेली छेल छबीली,
नाचे दे दे ताल,
डालो जी रंग कैसरिया,
होली आयी उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया,
कैसरिया जी रंग कैसरिया,
होली आयी उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया।।

नटवर नागर कृष्ण मुरारी,
भर पिचकारी सखियों को मारी,
कर दिया हाल बेहाल,
डालो जी रंग कैसरिया,
होली आयी उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया,
कैसरिया जी रंग कैसरिया,
होली आयी उड़े रे गुलाल,
डालो जी रंग कैसरिया।।

फागुण की अल मस्त बहारे,
वृन्दावन में छाई,
झूम उठा ब्रज अल मस्ती में,
ऐसी होली छाई,
राधा के संग चंद सखी और,
सखिया नई नवेली,
बरसाने से आई खेलने,
वृंदावन में होरी,
हिल मिल होरी खेल रहे है,
ब्रज के ग्वाल गुजरिया,
श्याम के संग में छेल छबिले,
नई उमर के रसिया,
नन्द गाँव के द्वार मची है,
होली खेले नर नारी,
वृंदावन की इस होली पर,
जाऊ मैं बलि हारी,
जाऊ मैं बलि हारी।।

होली पे खाटू धाम में आएगे सांवरे भजन लिरिक्स

होली पे खाटू धाम में,
आएगे सांवरे,
खेलेंगे खेलेंगे होली श्याम से,
वो लिखवा दे नाम रे।।

भर-भर के पोटली सभी,
रंगों की लायेंगे,
रंगों की लायेंगे,
नीले, गुलाबी रंग से,
तुझे रंग के जायेंगे,
फिर चाहें जो भी सांवरे,
करवाले काम रे,
खेलेंगे खेलेंगे होली श्याम से,
वो लिखवा दे नाम रे।।

रंग देना ऐसे रंग से
जो छुटे ना कभी,
रिश्ते जुड़े जो प्रेम से,
फिर टूटे ना कभी,
ऐसी ख़ुमारी बिक रही,
बिन मोल दाम रे,
खेलेंगे खेलेंगे होली श्याम से,
वो लिखवा दे नाम रे।।

राधे के संग सँवारे,
गोकुल से आयेंगे,
भगवान अपने भक्तों को,
खुद रंग जायेंगे,
‘गोबिन्द’ श्याम रंग से,
रंगवाले नाम रे,
खेलेंगे खेलेंगे होली श्याम से,
वो लिखवा दे नाम रे।।

होली पे खाटू धाम में,
आएगे सांवरे,
खेलेंगे खेलेंगे होली श्याम से,
वो लिखवा दे नाम रे।।

होली की तो तरंग है और राधा जी का संग है लिरिक्स

होली की तो तरंग है,
और राधा जी का संग है,
मैं होरी होरी होरी,
मैं होरी होरी होरी,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से।।

बरसाने में छाई,
होली की बहार है,
राधा ने भरके थाली,
उड़ाया गुलाल है,
कर दूंगी तोहे लाल रे,
करुँगी बुरा हाल रे,
मैं होरी होरी होरी,
मैं होरी होरी होरी,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से।।

वृषभानु की छोरी,
आज ना मानेगी,
कान्हा को अपने रंग में,
रंग के ही ठानेगी,
होरी का रंग हाथ है,
सखियाँ भी साथ है,
मैं होरी होरी होरी,
मैं होरी होरी होरी,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से।।

कान्हा भी राधे रंग में,
रंगने को तैयार है,
मन में उमंग है भारी,
होरी का त्यौहार है,
है राधे कृष्णा नाम रे,
राधे के तो है श्याम रे,
मैं होरी होरी होरी,
मैं होरी होरी होरी,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से।।

होली की तो तरंग है,
और राधा जी का संग है,
मैं होरी होरी होरी,
मैं होरी होरी होरी,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से,
होली खेलूंगी श्याम से,
आज बड़े प्यार से।।

फागणियो रंगीलो रंगीलो बाबो श्याम होली भजन लिरिक्स

फागणियो रंगीलो रंगीलो बाबो श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

फागण को मेलो यो तो,
बड़ो अलबेलो,
चलो जी खाटू चाला,
बाबो मारे हेलो,
ध्यान लगा के सुण लो,
यो बाबे रो पैगाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

लाल गुलाल झोली,
भर भर ले जास्या,
मंदिर के माहि आपा,
खूब उडास्या,
बादल सा छा जावे,
रंगीली हो जा शाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

केसर को रंग घोला,
श्याम के लगावा,
मस्त हो जावे बाबो,
इतर भी उड़ावा,
तबियत खुश कर देस्या,
मैं तेरी भी घनश्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

प्रेम को रंग बाबो,
श्याम लगावे है,
श्याम रंग जी के लागे,
मौज वो उड़ावे है,
जग माया का बंधन,
कट जावे है तमाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
फागणियों रंगीलो रंगीलो बाबों श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

फागणियो रंगीलो रंगीलो बाबो श्याम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम,
होली खेलण आपा चलांगा खाटू धाम।।

फागण आया धूम मचाओ के होली संग श्याम के मनाओ लिरिक्स

फागण आया धूम मचाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ,
श्याम के मनाओ संग श्याम के मनाओ,
संग संग सबको नचाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ।।

झांझ नगाड़ा बाजे देखो,
सब मिल करे धमाल,
रंग अबीर गुलाल उड़ावे,
श्याम प्रभु के लाल,
सब मिल रंग लगाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ,
फागन आया धूम मचाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ।।

श्याम प्रभु की महिमा ऐसी,
आए भीड़ अपार,
कोई जय श्री श्याम,
कोई बोले लखदातार
खाटू आके श्याम गुण गाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ,
फागन आया धूम मचाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ।।

एक बार जो खाटू आए,
बार बार फिर आता है,
कृपा श्याम की ऐसी होती,
कभी नहीं दुख पाता है
‘विष्णु’ को भी फागण में बुलाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ,
फागन आया धूम मचाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ।।

फागण आया धूम मचाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ,
श्याम के मनाओ संग श्याम के मनाओ,
संग संग सबको नचाओ,
के होली संग श्याम के मनाओ।।

holi bhajan lyrics in hindi | होली भजन लिरिक्स इन हिंदी, rajasthani holi bhajan lyrics, shiv holi bhajan lyrics, braj holi bhajan lyrics, punjabi holi Bhajan lyrics, shyam baba holi bhajan lyrics,

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply