अब सुनले मेरी पुकार ओ खाटू वाले भजन लिरिक्स

अब सुनले मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले,
सब कुछ मैं गया हूँ हार,
ओ खाटू वाले,
अब सुनलें मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले।।

हारे का सहारा है तू,
सुना है ज़माने से,
मुझे भी बचा ले बाबा,
अब डूब जाने से,
मेरी नाव की बन पतवार,
ओ खाटू वाले,
अब सुनलें मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले।।

सीढ़ियां तेरे मंदिर की,
आंसुओं से धोऊँ मैं,
जग को हंसाने वाले,
तेरे आगे रोऊँ मैं,
मेरी हार है तेरी हार,
ओ खाटू वाले,
अब सुनलें मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले।।

बाबा सारी दुनिया की,
लिखे तकदीरें तू,
देख ले मेरे हाथों की,
फिर से लकीरें तू,
फिर कलम उठा इक बार,
ओ खाटू वाले,
अब सुनलें मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले।।

तूने तो फकीरों को भी,
बादशाह बनाया है,
हुई भूल मुझसे क्या जो,
ये दिन दिखाया है,
तेरा भक्त है क्यों लाचार,
ओ खाटू वाले,
अब सुनलें मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले।।

अब सुनले मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले,
सब कुछ मैं गया हूँ हार,
ओ खाटू वाले,
अब सुनलें मेरी पुकार,
ओ खाटू वाले।।

Leave a Reply