आता रहूं गाता रहूं श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं भजन लिरिक्स

आता रहूं गाता रहूं,
श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं,
मेरे इस दिल की तमन्ना है ये,
देखूं तुझे मुस्कुराता रहूं,
आता रहूँ गाता रहूँ,
श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं।।

दाता तेरे दरबार में,
हरपल ही खुशियों की भरमार है,
मन को मेरे भाता है तू,
मुझको सदा तेरी दरकार है,
सुनता है तू मन की मेरी,
तुझको मैं आके सुनाता रहूँ,
मेरे इस दिल की तमन्ना है ये,
देखूं तुझे मुस्कुराता रहूं,
आता रहूँ गाता रहूँ,
श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं।।

तेरे बिना मैं कुछ भी नहीं,
पहचान मेरी है तुझसे प्रभु,
तूने किये उपकार जो,
अहसान तेरे है मुझपे प्रभु,
मालिक मेरे महाजन मेरे,
चरणों में सिर को झुकाता रहूँ,
मेरे इस दिल की तमन्ना है ये,
देखूं तुझे मुस्कुराता रहूं,
आता रहूँ गाता रहूँ,
श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं।।

पथ में तेरे जो प्रेमी मिले,
अपनों से बढकर वो अपने लगे,
देखूं जिधर लगता है यूँ,
सारे के सारे मेरे है सगे,
‘बिन्नू’ को जो तू दे रहा,
वो भाव इनमे लुटाता रहूँ,
मेरे इस दिल की तमन्ना है ये,
देखूं तुझे मुस्कुराता रहूं,
आता रहूँ गाता रहूँ,
श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं।।

आता रहूं गाता रहूं,
श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं,
मेरे इस दिल की तमन्ना है ये,
देखूं तुझे मुस्कुराता रहूं,
आता रहूँ गाता रहूँ,
श्याम तुम्हे मैं रिझाता रहूं।।

Leave a Reply