आ जाओ घनश्याम श्याम थारा टाबर जोवे बाट भजन लिरिक्स

आ जाओ घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ,
खाटू वाला श्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ,
आ जाओं घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ।।

पलका बिछाया थारी बाट निहारूँ,
अंगना बुहारूँ और चौक पुराऊँ,
लीले चढ़ के आओ श्याम,
मेरे कर दो घर में ठाट,
श्याम मेरे आ जाओ,
आ जाओं घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ।।

दिल के आसन पे बाबा थाने बिठाऊँ,
मनड़े रो थाके बाबा दिवलो सजाऊँ,
मोर मुकुट कानों में कुण्डल,
मोरछड़ी ले हाथ,
श्याम मेरे आ जाओ,
आ जाओं घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ।।

नित नया नया थाने भजन सुनाऊँ,
खीर चुरमां को भोग लगाऊं,
नाचू गाऊं खुशी मनाऊँ,
लुळ लुळ लागू पाँव,
श्याम मेरे आ जाओ,
आ जाओं घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ।।

भक्ति ना जानू बाबा ज्ञान नहीं है,
कइया रिझाऊँ थाने कोई गुण नहीं है,
भाव भरी मनुहार थारी,
‘केमिता’ करे पुकार,
श्याम मेरे आ जाओ,
आ जाओं घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ।।

आ जाओ घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ,
खाटू वाला श्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ,
आ जाओं घनश्याम श्याम,
थारा टाबर जोवे बाट,
श्याम मेरे आ जाओ।।

Leave a Reply