कान्हा कान्हा रटे ग्वालनी राधे का ना ध्यान करे भजन लिरिक्स

कान्हा कान्हा रटे ग्वालनी,
राधे का ना ध्यान करे,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले।।

जिसकी सिफारिश करे राधिका,
उसपे किरपा श्याम करे,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले।।

श्याम रंग में रंगी है राधा,
राधा रूप में श्याम बसे,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले।।

जो कहे राधा सुने श्याम जी,
उनकी कभी ना बात टले,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले।।

द्वारिकाधीश की लगी कचहरी,
यहाँ फ़ैसला राधा करे,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले।।

कान्हा कान्हा रटे ग्वालनी,
राधे का ना ध्यान करे,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले,
राधे नाम बिना ना श्याम मिले।।

Leave a Reply