छुपे बैठे हो कण कण मे भला मे कैसे पहचानु कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Chupe Bethe Ho Kan Kan Me Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics

छुपे बैठे हो कण कण मे भला मे कैसे पहचानु कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Chupe Bethe Ho Kan Kan Me Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics
कृष्ण भगवान का Beautiful Krishna Bhajan नॉनस्टॉप कृष्ण मधुर भजन | Beautiful Krishna Bhajan | Krishna Songs Krishna Bhajan भजन छुपे बैठे हो कण कण मे भला मे कैसे पहचानु कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Chupe Bethe Ho Kan Kan Me Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics विनोद अग्रवाल जी ने इस मधुर और मीठे भक्ति से भरे भजन को गाया है , और इसके गायक हैं भजन के कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स हिंदी और अंग्रेजी में ( इन इंग्लिश) इस वेबसाइट पर उपलब्ध हैं सिर्फ आपके लिए, ताकि आपका ज्ञान बढ़ सके और आप अपने आप को भक्ति भजन धरा में पाएं.

Chupe Bethe Ho Kan Kan Me Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics

छुपे बैठे हो कण कण मे,,,
भला मैं कैसे पहचानु,,,
दुई का दूर कर पर्दा,,,
सामने आओ तो जानु।।

छुपे माया के पर्दे मे,,,
क्या मुझसे शर्म आती है,,,
ये घुंघट दर्मिया पर्दा,,,
हटा दोगे तो मैं जानु,,,
दुई का दूर कर पर्दा,,,
सामने आओ तो जानु।।

सुना है चाहने वालों से,,,
हसीनों से हसीं हो तुम,,,
तो चेहरे से जरा चिल्मन,,,
हटा दोगे तो मैं जानु,,,
दुई का दूर कर पर्दा,,,
सामने आओ तो जानु।।

ये सुरज चांद से ज्यादा,,,
अजब जो नूर हे तेरा,,,
मेरे दिल में वही ज्योति,,,
जगा दो तो मैं जानु,,,
दुई का दूर कर पर्दा,,,
सामने आओ तो जानु।।

अंधेरी रात कत्ति दूर,,,
नैय्या भी भंवर मे है,,,
मेरी नैया किनारे से,,,
लगा दोगे तो मैं जानु,,,
दुई का दूर कर पर्दा,,,
सामने आओ तो जानु।।

छुपे बैठे हो कण कण मे,,,
भला मैं कैसे पहचानु,,,
दुई का दूर कर पर्दा,,,
सामने आओ तो जानु।।

Leave a Reply