बाबा म्हारे से भी हिवड़े री बात करल्यो भजन लिरिक्स

बाबा म्हारे से भी,
हिवड़े री बात करल्यो।

दोहा – आंखड़ल्या म्हारी रोवती,
थने याद करूँ दिन रात,
आओ म्हारा सांवरा,
तो कोई करल्या हिवड़े री बात।

बाबा म्हारे से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी,
थारी चाकरल्या में,
आज पूरी रात करल्या,
बाबा म्हारें से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी,
देख देख थारी राह या,
म्हारी आंख्या तरसी,
थारी ही यादा में,
सारी रात बरसी,
बाबा म्हारें से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी।।

म्हने बाबा थारी याद घणी आवे,
बिन थारे म्हारा दिल घबरावे,
बिन देखे अब रहा नहीं जावे,
ओ म्हारो बाबा यो दौड़ा चला आवे,
क्यों ना मनड़े में म्हारे,
थारो वास करल्यो,
थारी चाकरल्या में,
आज पूरी रात करल्या,
बाबा म्हारें से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी।।

सांस है जब तक आस करेंगे,
बातां दिल की ख़ास करेंगे,
प्रेमी जय जयकार करेंगे,
ओ सारे सांवरा से प्यार करेंगे,
‘माहि’ म्हारे पे भी,
थोड़ा उपकार करद्यो,
थारी चाकरल्या में,
आज पूरी रात करल्या,
बाबा म्हारें से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी।।

बाबा म्हारे से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी,
थारी चाकरल्या में,
आज पूरी रात करल्या,
बाबा म्हारें से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी,
देख देख थारी राह या,
म्हारी आंख्या तरसी,
थारी ही यादा में,
सारी रात बरसी,
बाबा म्हारें से भी,
हिवड़े री बात करल्यो,
बाबा म्हारें से भी।।

Leave a Reply