मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर भजन लिरिक्स

मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर,
जमुना के तीर,
हो जमुना के तीर,
मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर।।

मुरली की धुन मेरो मन हर लीनो,
मुरली की धुन मेरो मन हर लीनो,
मुरली की धुन मेरो मन हर लीनो,
चित्त धरत नहीं धीर,
मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर।।

कारो कन्हैया कारी कमलिया,
कारो कन्हैया कारी कमलिया,
कारो कन्हैया कारी कमलिया,
कारो जमुना को नीर,
मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर।।

मीरा के प्रभु गिरधर नागर,
मीरा के प्रभु गिरधर नागर,
मीरा के प्रभु गिरधर नागर,
चरण कमल पर सिर,
मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर।।

मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर,
जमुना के तीर,
हो जमुना के तीर,
जमुना के तीर,
हो जमुना के तीर,
मुरलिया बाजे रे जमुना के तीर।।

Leave a Reply