मेरा श्याम काम करे यारो डंके की चोट पे भजन लिरिक्स

कन्हैया मित्तल भजन मेरा श्याम काम करे यारो डंके की चोट पे भजन लिरिक्स
Singer – Kanhiya Mittal

मेरा श्याम काम करे,
यारो डंके की चोट पे,
हार के आवे जो इसकी शरण,
ले ले अपनी ओट में,
मेंरा श्याम काम करे,
यारो डंके की चोट पे।।

खाटू का यो दर बाबा,
करता वारे न्यारे से,
जो जग से हारा बाबा,
वो बस तेरे सहारे से,
दिल से करूँ शुकर तेरा,
तू खड्या सपोर्ट में,
मेंरा श्याम काम करे,
यारो डंके की चोट पे।।

खाटू में के धर राख्या,
जो नशा कसूता हो जासे,
एक बार जो आवे खाटू,
खाटू में ही खो जासे,
काम तेरा नहीं बनेगा जो,
तेरे दिल में खोट से,
मेंरा श्याम काम करे,
यारो डंके की चोट पे।।

चाँद भी फीका लागे जदसे,
देख्या बाबा रूप तेरा,
ग्यारस ने दुल्हन सा सज ज्या,
जचे से खाटू खूब तेरा,
मोरछड़ी का झाड़ा बाबा,
कर दे मौज से,
मेंरा श्याम काम करे,
यारो डंके की चोट पे।।

मेरा श्याम काम करे,
यारो डंके की चोट पे,
हार के आवे जो इसकी शरण,
ले ले अपनी ओट में,
मेंरा श्याम काम करे,
यारो डंके की चोट पे।।

Leave a Reply