मै जहा भी रहू बरसाना मिले कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Mai Jaha Bhi Rahu Barsana Mile Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics

मै जहा भी रहू बरसाना मिले कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Mai Jaha Bhi Rahu Barsana Mile Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics
श्याम बाबा का एक अद्बुध भजन मै जहा भी रहू बरसाना मिले कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Mai Jaha Bhi Rahu Barsana Mile Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics साध्वी पूर्णिमा जी ने इस मधुर और मीठे भक्ति से भरे भजन को गाया है , और इसके गायक हैं इनकी भक्ति से श्याम जी की कृपा बनी रहती है। बाबा श्याम अपने भक्तो पर अपना आशीर्वाद बनाये रखते है।

Mai Jaha Bhi Rahu Barsana Mile Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics

तेरे रंग में रंगा ज़माना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले

सारे जग में तेरा ही तो एक नूर है
मेरा कान्हा भी तुझसे ही मशहूर है
बदकिस्मत है वो जो तुझसे दूर है
तेरे नाम का हर मस्ताना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले

तेरी रहमत के गीत गाने आया हु में
कई गुनाहो की सौगात लाया हु में
कर दो करुणा जगत का सताया हु में
दर पर आया हु में ,,, आजा आया हु में
कर दो करुणा जगत का सताया हु में
रहमत का इशारा नजराना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले
तेरी पायल बंसी उनकी बजती रहे
जोड़ी प्रीतम प्यारे की सजती रहे
तेरे रसिकों पे छायी ये मस्ती रहे
तेरी मस्ती रहे हां तेरी मस्ती रहे
तेरे चरणों की रज में ठिकाना मिले
में जहाँ भी रहु बरसाना मिले

तेरा बरसाना राधे मेरी जान है
मेरे अरमानो की आन है शान है
तेरी गलियों पर जाकर ये कुर्बान
हाँ ये मेरी जान है मेरी जान है
तेरी गलियों पर जाकर ये कुर्बान
गाउ जब भी तेरा अफसाना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले

खुश रहे तू सदा ये दुआ है मेरी
बरसाना पहले ये सदा है मेरी
तेरे चरणों में रहना सजा है मेरी
रवि रस का सदा ही दीवाना मिले
मैं जहाँ भी रहूँ बरसाना मिले

 

Leave a Reply