मोहन हमारे मधुबन में तुम आया ना करो कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Mohan Hamare Madhuban Mein Tum Aaya Na Karo Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics

मोहन हमारे मधुबन में तुम आया ना करो कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Mohan Hamare Madhuban Mein Tum Aaya Na Karo Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics

Beautiful Krishna Bhajan नॉनस्टॉप कृष्ण मधुर भजन | Beautiful Krishna Bhajan | Krishna Songs Krishna Bhajan हरी भजन मोहन हमारे मधुबन में तुम आया ना करो कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स – Mohan Hamare Madhuban Mein Tum Aaya Na Karo Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics सीमा मिश्रा जी का गाया हुआ है। इस भजन में हरी भक्त भगवन विष्णु के एक बार दर्शन की अभिलाषा व्यक्त कर रहे है।

मोहन हमारे मधुबन में तुम आया ना करो कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स

मोहन हमारे मधुबन में तुम आया न करो।
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो ।।

सूरत तुम्हारी देखकर सलोनी सांवरी,,,
सुनकर तुम्हारी बांसुरी मैं हो गयी बांवली।
माखन चुराने वाले दिल चुराया ना करो,,,
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

माथे मुकुट गल माल कटी में काछनी सोहे,,,
कानो में कुण्डल झूम के मन मेरे को मोहे।
इस चन्द्रमा के रूप से लुभाया न करो,,,
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

अपनी यशोदा मात की सौगंध है तुमको,,,
यमुना नदी की तीर पर तुम न मिलो हमको।
इस बांसुरी की तान पे बिलखाया ना करो,,,
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

ऐसी तुम्हारी बांसुरी ने मोहनी डारी,,,
चन्द्रसखी की विनती तुम सुनलो बनवारी।
दर्शन देने में सांवरे अब देर ना करो,,,
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

मोहन हमारे मधुबन में तुम आया न करो।
जादूभरी बांसुरी बजाया ना करो।।

Mohan Hamare Madhuban Mein Tum Aaya Na Karo Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics

Mohan Humare Madhuban Me
Tum Aaya Na Karo ।
Jadubhari Bansuri
Bajaya Na Karo ।।

Surat Tumhari Dekhkar
Saloni Sanwari,,,
Sunkar Tumhari Bansuri
Me Ho Gayi Banwli ।

Maakhan Churane Wale
Dil Churaya Na Karo,,,
Jadubhari Bansuri
Bajaya Na Karo ।।

Mathe Mukut Gal Maal
Kati Me Kaachni Sohe,,,
Kano Me Kundal
Jhoom Ke Man Mere Ko Mohe ।

Is Chandrma Ke Roop Se
Lubhaya Na Karo,,,
Jadubhari Bansuri
Bajaya Na Karo ।।

Apni Yashoda Maat Ki
Sogandh Hai Tumko,,,
Yamuna Nadi Ki Teer Par
Tum Na Milo Humko ।

Is Bansuri Ki Taan Pe
Bilkhaya Na Karo,,,
Jadubhari Bansuri
Bajaya Na Karo ।।

Aisi Tumhari Bansuri Ne
Mohini Dari,,,
Chandrsakhi Ki Vinti
Tum Sunlo Banwari ।

Darshan Dene Me Sanware
Ab Der Na Karo,,,
Jadubhari Bansuri
Bajaya Na Karo ।।

Mohan Humare Madhuban Me
Tum Aaya Na Karo ।
Jadubhari Bansuri
Bajaya Na Karo ।।

This Post Has One Comment

Leave a Reply