म्हारी टेर सुनो दीनानाथ श्याम थाने आनो पड़सी जी लिरिक्स

म्हारी टेर सुनो दीनानाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी,
थारा बेटा करे फरियाद,
थारा बेटा करे फरियाद,
श्याम थाने आनो पड़सी जी,
म्हारी टेर सुणो दीनानाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी।।

रात्यु ना सोवा यादा में रोवा,
खावा तो रोटी ना भावे,
मनड़ो यो तरसे आंखड़ल्या बरसे,
बस थारी ओल्यू आवे,
म्हारे सिर पे फिरावण हाथ,
म्हारे सिर पे फिरावण हाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी,
म्हारी टेर सुणो दीनानाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी।।

करमा सी कोन्या सकलाई बाबा,
कईया मैं थाने बुलावा,
प्रेम भरयो है हिवड़े में म्हारे,
आओ जी थारे दिखावा,
देस्या प्रीत की म्हे सौगात,
देस्या प्रीत की म्हे सौगात,
श्याम थाने आनो पड़सी जी,
म्हारी टेर सुणो दीनानाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी।।

कलजुग रा साँचा देव कुहावो,
नाम सुन्यो थारो भारी,
प्रीत डोर सु बंधकर आओ,
बाबा सुध ल्यो म्हारी,
राखो ‘हर्ष’ भगत री बात,
राखो ‘हर्ष’ भगत री बात,
श्याम थाने आनो पड़सी जी,
म्हारी टेर सुणो दीनानाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी।।

म्हारी टेर सुनो दीनानाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी,
थारा बेटा करे फरियाद,
थारा बेटा करे फरियाद,
श्याम थाने आनो पड़सी जी,
म्हारी टेर सुणो दीनानाथ,
श्याम थाने आनो पड़सी जी।।

Leave a Reply