ये ग्यारस बिन तेरे दर्शन क्यों बाबा बीत जाती है भजन लिरिक्स

ये ग्यारस बिन तेरे दर्शन क्यों बाबा बीत जाती है भजन लिरिक्स
Ekadashi 2020 Special – Gyaras Bin Darshan | ग्यारस बिन दर्शन | Sad Shyam Bhajan by Mukesh Bagda
तर्ज – बहारों फूल बरसाओ।
Song: Gyaras Bin Darshan
Singer: Mukesh Bagda
Lyricist: Amit Bansal ‘Sneh’
Category: Shyam Bhajan (Hindi Bhajan)
Producers: Amresh Bahadur, Ramit Mathur
Label: Yuki

ये ग्यारस बिन तेरे दर्शन,
क्यों बाबा बीत जाती है,
क्यों बाबा बीत जाती है,
मुझे दिन रात खाटू की,
ओ बाबा याद आती है,
तुम्हारी याद आती है।।

है सूना मन तेरे दर्शन,
के बिन बाबा करूं मैं क्या,
तू ही आजा मिलन को अब,
मैं तुझसे और मांगू क्या,
हैं रोती याद में तेरी,
ये आँखे भर सी जाती हैं,
तुम्हारी याद आती है।।

तेरे मन्दिर के बाहर का,
नजारा याद आता है,
कोई रोता है मिलने को,
तो कोई मुस्कुराता है,
महक माटी की खाटू की,
मेरी सांसो में आती है,
मेरी सांसो में आती है।।

तू कर ऐसा जतन बाबा,
समय जल्दी ये कट जाए,
तेरे दरबार में आकर,
तेरे भजनों को हम गायें,
तुम्हारा ‘स्नेह’ पाने की,
कसक बढ़ती ही जाती है,
कसक बढ़ती ही जाती है।।

ये ग्यारस बिन तेरे दर्शन,
क्यों बाबा बीत जाती है,
क्यों बाबा बीत जाती है,
मुझे दिन रात खाटू की,
ओ बाबा याद आती है,
तुम्हारी याद आती है।।

Watch Video song of ये ग्यारस बिन तेरे दर्शन क्यों बाबा बीत जाती है भजन

Leave a Reply