श्री कृष्णाष्टकम् कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स हिंदी में – Shri Krishna Ashtakam Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics in Hindi

्री कृष्णाष्टकम् कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन िरिक्स हिंदी में – Shri Krishna Ashtakam Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics in Hindi

कृष्ण भगवान का Beautiful Krishna Bhajan नॉनस्टॉप कृष्ण मधुर भजन | Beautiful Krishna Bhajan | Krishna Songs Krishna Bhajan भजन श्री कृष्णाष्टकम् कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स हिंदी में – Shri Krishna Ashtakam Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics in Hindi Rajalakshmee Sanjay जी ने इस मधुर और मीठे भक्ति से भरे भजन को गाया है , और इसके गायक हैं भजन के कृष्ण भगवान,श्याम जी,मोहन लिरिक्स हिंदी और अंग्रेजी में ( इन इंग्लिश) इस वेबसाइट पर उपलब्ध हैं सिर्फ आपके लिए, ताकि आपका ज्ञान बढ़ सके और आप अपने आप को भक्ति भजन धरा में पाएं.

Shri Krishna Ashtakam Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics in Hindi

वसुदेव सुतं देवं कंस चाणूर मर्दनम्
देवकी परमानंदं कृष्णं वंदे जगद्गुरुम् ॥ 1 ॥

अतसी पुष्प संकाशं हार नूपुर शोभितम् ।
रत्न कंकण केयूरं कृष्णं वंदे जगद्गुरुम् ॥ 2 ॥

कुटिलालक संयुक्तं पूर्णचंद्र निभाननम् ।
विलसत् कुंडलधरं कृष्णं वंदे जगद्गुरम् ॥ 3 ॥

मंदार गंध संयुक्तं चारुहासं चतुर्भुजम् ।
बर्हि पिंछाव चूडांगं कृष्णं वंदे जगद्गुरुम् ॥ 4 ॥

उत्फुल्ल पद्मपत्राक्षं नील जीमूत सन्निभम् ।
यादवानां शिरोरत्नं कृष्णं वंदे जगद्गुरुम् ॥ 5 ॥

रुक्मिणी केलि संयुक्तं पीतांबर सुशोभितम् ।
अवाप्त तुलसी गंधं कृष्णं वंदे जगद्गुरुम् ॥ 6 ॥

गोपिकानां कुचद्वंद कुंकुमांकित वक्षसम् ।
श्रीनिकेतं महेष्वासं कृष्णं वंदे जगद्गुरुम् ॥ 7 ॥

श्रीवत्सांकं महोरस्कं वनमाला विराजितम् ।
शंखचक्र धरं देवं कृष्णं वंदे जगद्गुरुम् ॥ 8 ॥

कृष्णाष्टक मिदं पुण्यं प्रातरुत्थाय यः पठेत् ।
कोटिजन्म कृतं पापं स्मरणेन विनश्यति ॥

इति श्री कृष्णाष्टकम् —

Shri Krishna Ashtakam Krishna Bhajan, Mohan ji, shyam ji ke bhajan Lyrics in Hindi

This Post Has One Comment

Leave a Reply