सांवरिया तेरे द्वार पे आके हारी मैं दिल अपना लिरिक्स

सांवरिया तेरे द्वार पे आके,
हारी मैं दि अपना,
हारी मैं दिल अपना

जब से तुझ संग प्रीत लगाई,
सुधबुध खोई नींद गंवाई,
फिर भी मन में खुियाँ समाई,
साँवरिया तेरे द्वार पे आके,
हारी मैं दिल अपना,
हारी मैं दिल अपना।।

लोग कहे मुझे श्याम दीवानी,
प्यारी लागे ये बदनामी,
भावना मन की किसने जानी,
साँवरिया तेरे द्वार पे आके,
हारी मैं दिल अपना,
हारी मैं दिल अपना।।

ना दौलत ना शोहरत मांगू,
बस बाबा तेरी शोहबत मांगू,
और ना तुमसे कुछ ना मैं चाहूँ,
साँवरिया तेरे द्वार पे आके,
हारी मैं दिल अपना,
हारी मैं दिल अपना।।

सांवरिया तेरे द्वार पे आके,
हारी मैं दिल अपना,
हारी मैं दिल अपना।।

Leave a Reply